Uttarakhandउत्तराखंडनई जिम्मेदारीप्रतिभा को सलामप्रमोशन

देश के सबसे कम उम्र के आईजी बने आईपीएस अरुण मोहन जोशी

खबर को सुने

देहरादून। वर्ष 2006 बैच के आईपीएस अरुण मोहन जोशी इस समय देश के सबसे कम उम्र के आईजी बन हैं। कुछ दिन पहले शासन ने उनकी आईजी बनने की डीपीसी पर मुहर लगाई थी, जो आज एक जनवरी 2024 से देश के सबसे कम उम्र के आईजी बन गए हैं। इससे पहले 2004 बैच के मध्यप्रदेश कैडर के आईपीएस गौरव कुमार देश के सबसे कम उम्र के आईजी थे।

उत्तराखण्ड के चकराता (देहरादून) निवासी आईपीएस अरुण मोहन जोशी 2006 में सबसे कम उम्र 23 साल में आईपीएस बने थे।हालांकि उनके बाद देश में अन्य अफसर कम उम्र में आईपीएस बनने का रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज करा चुके हैं। लेकिन आईजी के मामले में 2004 बैच के आईपीएस गौरव राजपूत 2022 में 41 साल की उम्र में देश के सबसे कम उम्र के आईजी बने थे। लेकिन अब उत्तराखण्ड कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अरुण मोहन जोशी 40 साल की उम्र में आईजी बने हैं। यानी अब आईपीएस अरुण मोहन जोशी देश के सबसे कम उम्र के आईजी बन गए हैं।

आईआईटियन हैं आईपीएस जोशी

देहरादून के चकराता निवासी अरुण मोहन जोशी की पढ़ाई देहरादून और हरिद्वार में हुई। बचपन में माता के निधन के बाद अफसर पिता ने उनकी परिवरिश की। यहां मिले संस्कार और शिक्षा को वह आज भी आत्मसात किए हुए हैं। आईपीएस जोशी के तीन भाई और एक बहन है। आईपीएस बनने से पहले वह आईआईटी रुड़की में इंजीनियर की पढ़ाई कर रहे थे। यूपीएससी की परीक्षा में वह पहले प्रयास में ही सफल हुए और आईपीएस कैडर मिला।

 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पहनाए बैच

आईपीएस अरुण मोहन जोशी डीआईजी से आईजी पद पर प्रमोट होने पर आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उनके कंधों पर आईजी का बैच पहनाया है। मुख्यमंत्री ने उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी हैं। उल्लेखनीय है कि अरुण मोहन जोशी 23 साल की उम्र में देश के सबसे कम उम्र वाले आईपीएस बने हैं। एसपी उत्तरकाशी, एसएसपी हरिद्वार, देहरादून में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। डीआईजी बनने तक वह देहरादून के एसएसपी रहे हैं। उनके कार्यकाल में अपराध पर प्रभावी अंकुश लगा है।

इनको भी मिला आईजी पद पर प्रमोशन

पिछले माह 22 दिसम्बर को उत्तराखंड सचिवालय में मुख्य सचिव उत्तराखंड शासन की अध्यक्षता में भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों की डीपीसी सम्पन्न हुई।डीपीसी में वर्ष 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी पुलिस उप महानिरीक्षक स्वीटी अग्रवाल,  अरुण मोहन जोशी, अनंत शंकर ताकवाले तथा राजीव स्वरूप को 01 जनवरी 2024 से पुलिस महानिरीक्षक पद पर पदोन्नति प्रदान करने का निर्णय लिया गया। स्वीटी अग्रवाल के प्रतिनियुक्ति पर होने के कारण उन्हें परफॉर्मा पदोन्नति प्रदान करने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा वर्ष 2010 बैच के आईपीएस अधिकारी पुलिस अधीक्षक सुखबीर सिंह को दिनांक 01 जनवरी 2024 से पुलिस उप महानिरीक्षक पद पर पदोन्नति प्रदान करने का निर्णय लिया गया। जबकि वर्ष 2011 बैच के आईपीएस अधिकारी पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार तथा धीरेंद्र गुंज्याल को दिनांक 01 जनवरी 2024 से सेलेक्शन ग्रेड प्रदान करने का निर्णय लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button